Sunday, 13 March 2016

होली में मस्जिद पर रंग गिरा, तो होगी दीवार की तुरंत सफेदी : बरेली प्रशासन का निर्णय

एेसी सतर्कता क्या प्रशासन ने कभी हिन्दुआें के विषयमें दिखार्इ है ? 

बरेली – सांप्रदायिक तौर पर संवेदनशील बरेली शहर में होली के त्योहार को देखते हुए एक निर्णय लिया गया है। बरेली शहर में हिंदू और मुसलमान समुदाय की जनसंख्या का अनुपात ५०:५० प्रतिशत है। ऐसे में अब प्रशासन ने होली के त्योहार को देखते हुए एक आदेश जारी किया है। २४ मार्च को होली के दिन सरकार की ओर से पेंटरों की एक टीम तैयार रहेगी। यदि किसी मस्जिद की दीवार पर होली का रंग गिर जाता है, तो ये सरकार की ओर से नियुक्त किए गए ये पेंटर फटाफट वहां सफेदी कर देंगे। इसके अलावा प्रशासन ने आदेश जारी करते हुए कहा है, ‘मस्जिद की जिन दीवारों पर रंग गिर जाए, उसपर तत्काल सफेदी कर दें।’
इसके अलावा प्रशासन ने आदेश दिया है कि होली के दौरान किसी भी तरह के डीजे संगीत की भी अनुमति नहीं दी जाएगी।
अकेले बरेली शहर में ही करीब ३०० मस्जिदे हैं। पूरे जिले में मस्जिदों की संख्या १००० के लगभग है।
आमतौर पर लोग ‘डीजे संगीत’ के साथ अखाड़ों द्वारा इस दिन अपना शक्ति प्रदर्शन करने के लिए लाठियों और तलवारों सहित सभी तरह के हथियारों के उपयोग पर पुरी तरह से प्रतिबंध होगा।

No comments:

Post a Comment