Sunday, 17 April 2016

गोदावरी नदी सूखी तो कई मंदिर आ गए सतह पर, 34 साल पहले दिखे थे


महाराष्ट्र में भीषण सूखा पड़ने की वजह से गोदावरी नदी सूख गई है और इस वजह से कई मंदिर सतह पर आ गए हैं। इससे पहले लोगों ने इन मंदिरों को करीब 34 साल पहले वर्ष 1982 में देखा था। बताया जाता है कि उस दौरान भी भीषण सूखा पड़ा था।

indiatimes


मंदिर के सतह पर आने की घटना को नासिक और आसपास के लोग वरदान मान रहे हैं। इन मंदिरों में अधिकतर भगवान शिव के मंदिर हैं। लोगों ने पूजा-अर्चना शुरू कर दी है। लंबे समय से जलमग्न ये मंदिर फिलहाल लोगों के इकट्ठा होने की पसन्दीदा जगह बन गए हैं।

bhaskar
स्थानीय लोग बताते हैं कि आमतौर पर गर्मियों के दिनों में जलस्तर कम होने पर उन्हें इन मंदिरों की चोटी ही दिखाई पड़ती थी। लंबे समय में यह पहली बार है जब यहां का पानी पूरी तरह सूख गया है।

aninews

जानकारों के मुताबिक ये मंदिर पेशवा काल में बनवाए गए थे। हालांकि आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के पास इन मंदिरों के बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं है।
indiatimes

यहां के ग्रामीणों का कहना है कि इन मंदिरों को 13वीं शताब्दी में पेशवा सरदार हिंगने ने बनवाया था।

No comments:

Post a Comment