Saturday, 25 February 2017

पुणे विश्वविद्यालय में एस्एफ्आय के कार्यकर्त्याआेंद्वारा अखिल भारतीय छात्र परिषद के कार्यकर्ताआें को मारपीट

पुणे विश्वविद्यालय में एस्एफ्आय के कार्यकर्त्याआेंद्वारा अखिल भारतीय छात्र परिषद के कार्यकर्ताआें को मारपीट
देशविरोधी उमर खालिद का पुतला जलाने पर नक्षलप्रेमी एस्एफ्आय आक्रमक

पुणे – देहली के रामजस महाविद्यालय में एबीवीपी द्वारा किए गए विरोध के बाद देशद्रोह का आरोप होनेवोले उमर खालीद का कार्यक्रम न होने के कारण उमर खालीद, कन्हैय्या कुमार, शेहला रशीद ने ‘कश्मीर माँगे आझादी’, ‘केरल माँगे आझादी’, एेसी देशविरोधी घोषणी दी थी । इसका निषेध करने हेतु यहां के सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय में एबीवीपी की आेरसे २४ फरवरी को सुबह उमर खालीद का पुतला जलाकर नक्षलवाद तथा आतंकवाद के विरोध में घोषणाबाजी की गर्इ । इसका गुस्सा मन में रखकर ‘एस्एफ्आय’ इस वामपंथी संगठन के कार्यकर्ताआें ने विश्वविद्यालय के क्षेत्र में एबीवीपी द्वारा लगाए गए पोस्टर्स  फाडकर वहां ‘एबीवीपी मुर्दाबाद’, ‘सनातन के चेले को, जुते मारो सालों को’, ‘भगवे राष्ट्रवाद के ठेकेदारों को, जुते मारो सालों को’, एेसे वाक्य उस पोस्टर्स पर चिपकाए । २४ फरवरी को रात ८ बजे के आसपास ‘एस्एफ्आय’ के कार्यकर्त्याआें ने एबीवीपी के कार्यकर्त्याआें के साथ मारपीट थी । इस प्रकरण में चतुःश्रृंगी पोलीस थाना में दोनो पक्षों के कार्यकर्ताआेंको हिरासत में लिया।

१ . उमर खालीद का पुतला जलाना पर दु:ख होने से ही ‘एस्एफ्आय’ झूठे आरोप कर रहा है , एेसे एबीवीपी ने अपने पत्रक में कहा है । नासीर शेख इस ‘एस्एफ्आय’के गुंड ने एबीवीपी के महिला कार्यकर्ता को गाली-गलौज करने का भी उल्लेख इस पत्रक में किया गया है ।

No comments:

Post a Comment