Friday, 3 March 2017

जहा हर रोज़ देश वरोधी नारे लगते है

विवादों के बीच जेएनयू को मिला ये अवॉर्ड

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय पिछले एक साल से देशभक्ति बनाम देशद्रोही की जंग को लेकर विवादों में घिरा हुआ है. इस बीच, विश्वविद्यालय से जुड़ी एक अच्छी खबर भी आई है. जेएनयू को बेस्ट यूनिवर्सिटी का अवॉर्ड मिला है. जेएनयू को विजिटर्स श्रेणी में अवॉर्ड के लिए चुना गया.
6 मार्च अवॉर्ड समारोह
छह मार्च को राष्ट्रपति भवन में एक कार्यक्रम होगा. जिसमें राष्ट्रपति डॉ. प्रणब मुखर्जी जेएनयू के कुलपति जगदीश कुमार को यह अवॉर्ड देंगे. बेस्ट रिसर्च अवॉर्ड बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय एवं तेजपुर विश्वविद्यालय को संयुक्त रूप से दिया गया है. यह पुरस्कार बीएचयू के प्रोफेसर श्याम सुंदर और तेजपुर यूनिवर्सिटी के निरंजन करक को दिया जाएगा. इनोवेशन के लिए हिमाचल केंद्रीय विश्वविद्यालय के प्रोफेसर दीपक पंत को अवॉर्ड दिया जाएगा.
2014 में शुरू हुआ था अवॉर्ड
राष्ट्रपति मुखर्जी ने इन पुरस्कारों का वितरण 2014 में शुरू किया था. उनका मकसद केंद्रीय विश्वविद्यालयों को विश्वस्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन देने के लिए प्रेरित करना है. पिछले साल जेएनयू के छात्रों ने रिसर्च और इनोवेशन में विजिटर अवॉर्ड जीता था. राकेश भटनागर ने रिसर्च में और मौलिक्यूलर पेरेसिटोलौजी ग्रुप ने इनोवेशन में.
पिछले साल शुरू हुआ था विवाद
जेएनयू पिछले एक साल से विवादों में है. पिछले साल फरवरी में यहां के तीन छात्रों को देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया था. उन पर कैंपस में देशविरोधी नारे लगाने का आरोप था. तब से जेएनयू के प्रबंधन और छात्रों के बीच तना तनी बनी हुई है.

No comments:

Post a Comment