Friday, 3 March 2017

उनकी औकात बस खोने की थी हम अपनी जमीन के लिए जान लड़ा देंगे,वो दिन दूर नहीं जब हम अक्साई चिन के लिए नहीं बल्कि पूरे तिब्बत की बात करेंगे

ऐसा क्या हुआ जो चीन की तरफ से कहा गया कि भारत को उसकी ज़मीन वापस


चीन और भारत के बीच सीमा को लेकर अक्सर विवाद होता है. भारत के कुछ हिस्सों पर चीन अपना दावा करता रहता है और भारत उसके इन दावों का हमेशा खंडन करता है और ये मुद्दा ऐसे ही आगे बढ़ता रहता है. भारत के अरुणाचल प्रदेश की जमीन पर चीन अक्सर अपना दावा करता है.

वहीं दूसरी ओर भारत भी अक्साई-चीन पर अपना दावा पेश करता है लेकिन चीन भी इसको लेकर कोई सकारत्मक जवाब नहीं देता. इस तरह दोनों के बीच का ये विवाद जस का तस है. लेकिन अब खबर आ रही है कि चीन इस विवाद का हल 
निकालना  चाहता है.

भारत के साथ सीमा विवाद को सुलझाने के लिए चीन अपने कब्जे का एक हिस्सा भारत को दे सकता है लेकिन इसके बदले वो चाहता है कि भारत अरुणाचल प्रदेश के तवांग को उसे दे.  चीन के पूर्व वरिष्ठ राजनयिक दाई बिंगुओ ने एक इंटरव्यू के दौरान इस बात के संकेत दिए. ये भी माना जा रहा है कि उनका इशारा तवांग के बदले अक्साई चीन के आदान-प्रदान की तरफ था.

No comments:

Post a Comment