Monday, 13 March 2017

यूपी के इन नतीजों के बाद राज्यसभा सांसद भी नहीं रहेंगी मायावती

यूपी के इन नतीजों के बाद राज्यसभा सांसद भी नहीं रहेंगी मायावती

लखनऊ | उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने 312 सीटें जीत जहाँ इतिहास रच दिया है वहीं बहुजन समाज पार्टी को बड़ा नुकसान हुआ है । बीए...


--  करारी हार के बाद बोली मायावती, कहा- बीजेपी ने करवाई मशीनों में गड़बड़ी, रद्द हो चुनाव
 उत्तर प्रदेश में बीजेपी को मिला बहुमत तो इन्हें मिल सकती है कमान
 उलेमा काउंसिल ने लखनऊ एनकाउंटर को बताया फर्जी, केस दर्ज

लखनऊ | उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने 312 सीटें जीत जहाँ इतिहास रच दिया है वहीं बहुजन समाज पार्टी को बड़ा नुकसान हुआ है। बीएसपी को इस चुनाव में सिर्फ 19 सीटें ही मिली हैं, जिसके बाद मायावती को राज्यसभा से भी करारा झटका लग सकता है

मायावती को राज्यसभा कार्यकाल अगले साल खत्म होने वाला है और उनके पास उतने विधायक नहीं हैं, जिनके दम पर वह खुद को दोबारा उच्च सदन के लिए नॉमिनेट कर सकें। दो दशक तक उत्तरप्रदेश की राजनीति पर धाक रखने वाली बसपा का हश्र यह होगा, शायद ही मायावती ने कभी यह सोचा हो। बीएसपी को इस चुनाव में सिर्फ 19 सीटें ही मिली हैं, जबकि 2012 में उसे 80 सीटें मिली थीं। 1991 के बाद यह उसका सबसे खराब प्रदर्शन है। तब पार्टी को महज 12 सीटें ही मिली थीं।
वहीं समाजवादी पार्टी को कुल 47 सीटें ही मिलीं , जो उसे मिलीं अब तक की सबसे कम सीटें हैं। 2007 में सपा को 97 सीटें हासिल हुई थीं। एसपी का वोट प्रतिशत सिर्फ 21.8 प्रतिशत, जबकि बीएसपी का वोट प्रतिशत 22.2 प्रतिशत था। बीएसपी ने सभी सीटों पर चुनाव लड़ा था, वहीं सपा ने 100 सीटें कांग्रेस के लिए छोड़ी थीं।

No comments:

Post a Comment