Thursday, 9 March 2017

संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह को मोबाइल देने वाले दुकानदार को धर्मांधों की भीड ने पुलिस से बचाया

कानपुर : संदिग्ध आतंकी सैफुल्लाह को मोबाइल देने वाले दुकानदार को धर्मांधों की भीड ने पुलिस से बचाया

कानपुर : लखनऊ में जिस संदिग्ध आतंकी को पकड़ने के लिए उत्तर प्रदेश एटीएस ने मोर्चा संभाल रखा है, उसे कानपुर से काफी मदद मिल रही थी। सूत्रों के अनुसार, संदिग्ध सैफुल्लाह को कानपुर से ही मोबाइल फोन उपलब्ध कराए गए थे। मोबाइल देने वाले दुकानदार को पकड़ने के लिए जब मंगलवार शाम पुलिस दल तलाक महल पहुंचीं तो भीड की पुलिस से झड़प का फायदा उठाकर वह भाग निकला था।
जानकारों के अनुसार, संदिग्ध मोबाइल दुकानदार अपने पिता की दुकान पर पिछले ३-४ साल से बैठ रहा था। वह रहमानी मार्केट के बाकी दुकानदारों से दोस्ती नहीं रखता था और काफी कम बातचीत करता था। उसका घर दलेलपुरवा क्षेत्र में बताया जाता है। इस क्षेत्र में कुछ साल पहले पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई का एक जासूस पकड़ा गया था।
वहीं, हवार्इदल स्टेशन के पास हरजेंद्र नगर से पकड़े गए एक और संदिग्ध के बारे में कई चौंकाने वाली बातें सामने आई हैं। बस्ती के लोगों के अनुसार, संदिग्ध के पिता ने ४ साल पहले मोहन लाल पाल नाम के व्यक्ती से यह मकान खरीदा था। घर के बाहर बनी दुकान रात १२ बजे तक चलती थी और अल्पसंख्यक समुदाय की पहचान रखने वाले लोगों की भीड लगी रहती थी। दो दिन पहले ऐसे ही काफी लोग भारी संख्या में दो अलग-अलग गाड़ियों में आए थे और देर रात तक घर के अंदर मौजूद रहे थे। परिवार के लोग मोहल्ले के लोगों से ज्यादा बात नहीं करते थे। दुकान ज्यादा न चलने के बावजूद सभी लोग महंगे गैजेट्स का उपयोग करते थे।

No comments:

Post a Comment