Saturday, 4 March 2017

सरकारी पद का अपलाभ लेकर गुंडागर्दी करनेवाले एेसे लोगों पर क्या राज्य सरकार कडी कार्यवाही करेगी

६ हजार का बकाया बिल मांगने गए लाइनमैन को कांग्रेस विधायक के निजी सहायक ने बुरी तरह पीटा !

तेलंगाना में बुधवार को कांग्रेस के विधायक टी.राममोहन रेड्डी के पारीगी स्थित घर की बिजली काटे जाने के बाद उन्होंने राज्य ट्रांस्को विभाग के लाइनमैन डी रमेश को गालियां देते हुए उसके विरुद्ध कार्यवाही लेने की भी धमकी दी। राममोहन रेड्डी ने रमेश से यह भी कहा कि, एक दिन वह बिजली मंत्री या राज्य के मुख्यमंत्री बनेंगे, जब २०१९ में कांग्रेस सत्ता में आएगी। वहीं विधायक के निजी सहायक जे.अशोक रेड्डी ने न सिर्फ लाइनमैन को गंदी गालियां दीं अपितु कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं के सामने ही उससे मारपीट भी की।
रमेश ने बिजली इसलिए काटी, क्योंकि मंत्री ने जनवरी का ६००० रुपये का बिल नहीं भरा था। उसे भरने की अंतिम तारीख २५ फरवरी थी। लाइनमैन की शिकायत पर पारीगी पुलिस ने विधायक के निजी सहायक के विरुद्ध आक्रमण करने और एक सरकारी कर्मचारी (३५३) को उसका कर्तव्य करने से रोकने, चोट पहुंचाने (३२३) और जानबूझकर अपमान करने (५०४) की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। डेक्कन क्रॉनिकल से सब इंस्पेक्टर वाई नागेश ने कहा कि, हम सबूत जमा कर रहे हैं। इसी के आधार पर हम आगे कार्रवाई करेंगे।
उन्होंने बताया कि, रमेश बिजली के बिल की बकाया राशि लेने के लिए बुधवार को राममोहन रेड्डी के आवास पर गया था। विधायक का निजी सहायक उस समय कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बैठा था, जब रमेश ने उनसे कहा कि, यदि उन्होंने बकाया बिल नहीं भरा तो उन्हें बिजली काटनी पड़ेगी। इसके बाद गुस्साए अशोक रेड्डी ने उससे कहा, तुम एेसे बिल मांगोगे। तुम पार्टी नेताओं के सामने विधायक का आपमान करना चाहते हो। हम तुम्हें कोई पैसा नहीं देंगे। जाओ जो करना है कर लो।
इसके बाद रमेश ने अपने वरिष्ठ से बात की और इसके बाद वापस आकर बिजली की आपूर्ति बंद कर दी। अशोक ने लाइनमैन पर आक्रमण कर दिया और उसे बुरी तरह पीटा। उस समय विधायक घर पर नहीं थे। वापस लौटने पर उन्होंने रमेश को फोन किया और गालियां दीं। रात १० बजे रमेशन ने अशोक रेड्डी के विरुद्ध शिकायत दर्ज कराई। जब विधायक से इस बारे में बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने कोई उत्तर नहीं दिया।

No comments:

Post a Comment