Monday, 20 March 2017

दलाई लामा ने खुद को बताया 'भारत का बेटा',कहा-धर्मनिरपेक्षता में भारत जैसा कोई देश नहीं


नोबेल पुरस्कार विजेता दलाई लामा ने कहा कि धर्मनिरपेक्षता के मामले में भारत जैसा कोई देश नहीं। तिब्बत में रहने के दौरान मेरी सोच संकुचित थी, पर जब अपने घर से बाहर निकला और भारत आया तो तिब्बत के साथ-साथ पूरी दुनिया के बारे में मेरे विचारों में व्यापकता आयी।
आध्यात्मिक नेता ने कहा कि नालंदा स्कूल की विचारधारा बौद्ध धर्म का महत्वपूर्ण आयाम है। उन्होंने कहा कि आज मैं जो भी हूं वह नालंदा की विचारधारा की वजह से हूं। उन्होंने कहा कि अच्छी शिक्षा से लोगों के बीच सहिष्णुता पैदा करने में मदद मिलेगी और माफ करने की आदत बनेगी।

No comments:

Post a Comment