Friday, 17 March 2017

PMO का जवाब सुनकर सनून रह गए डेल्ही के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोडिया

PMO  का जवाब  सुनकर सनून  रह गए डेल्ही के उपमुख्यमंत्री  मनीष सिसोडिया
डेल्ही के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोडिया  ने सुचना के अधिकार के त्तरह प्रधान मंत्री कार्यालय 
से कुछ जानकारी हासिल करनी चाही  जानिए क्या मिला जवाब  डेल्ही के उप मुख्यमंत्री और आम आदमी आर्टि के नित मनीष सिसोडिया ने सुचना के अधिकारी यानि RTI  के तरह प्रधानमंत्री कार्यालय से एक जानकारी मांगी 
थी मनीष सिसोडिया को और से मांगी गए जानकारी का प्रधान मंत्री कार्यलय को और से बाकायदा जवाब थी दिया गया लेकिन तो जवाब सिसोडिया का मिला उसे पड़कर  वे सनून रह गए   ! मन  रहा है की सिसोडिया के इस जवाब की कतई उम्मीद नहीं थी , और उमड़ीं से पर मिले जवाब की वजह  से ही अब वे इस मामले पर फिलहाल कुछ नहीं कह रहे है .  प्रधान मंत्री  नरेंद्र मोदी जी  के सोशल मिडिया पर होने वाला खर्च के लेकर था 
लेकिन जवाब वाकई  बहुत चोकाने  वाला मिला  जरा आप भी जान लीजिए  क्या कहा 
PMO  
करसल देखि के उप मुख्या मंत्री मनीष सिसिडिया प्रधान मंत्री कार्यालय  से ये जानना चाहते थे  के प्रधान मंत्री
नरेंद्र मोदी जी ककी सोचिअ मिडिया पर उपस्थिति  को लेकर सरकारी खजाने से कितना खर्च होता है  और अब तक कितना खर्च हुवा है ! मनीष सिसोडिया ने सुचना के अधिकार के जरिये नरेंद्र मोदी जी  के प्रधान मंत्री  बनने के बाद से लेकर अब तक उनके हर एक सोशल मीडियल प्लटफार्म पर खर्च से जुडी जानकारी मांगी थी सिसोडिया प्रधान मंत्री नरेदंर मोदी जी के सोशल प्लेटफार्म पर खर्च होने वाले पैसा का साल -दर - साल हिसाब चाहते थे , यानि मई २०१४ के बाद नरेंद्र मोदी  के सोशल मीडिया पर अब तक कुल कितने रूपया 
खर्च किया गया प्रधान मंत्री कार्यालय से सिसोडिया की और से पूछे गए सवाल का जवाब दिया 
सूचना अधिकार के तरह प्रधान मंत्री कार्यालय को और से डेल्ही के उपमुख्यमंत्री  मनीष सिसोडिया  को जबाव निदय गया और बताया गया की प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी  के सोशल मीडिया पर मौजूद रहने पर कोउ भी सरकारी खर्च नहीं आया RTI  के जवाब में प्रधान मंत्री कार्यलय  ने कहा ली प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी के अभिकारिक मोबाइल अप्पयानि pmo  इंडिया को एक प्रतियोगिता के दौरान  छात्रों  नई विक्सित किया था 
इस्लिये इस अप्प को विक्सित करने में पुरस्कार राशि के अलावा कोउ दूसरा खर्च नहीं आया यानि 
pmo  इंडिन अप्प को किसी प्रोफशनल से नहीं बनवाया गया ! ऐसा में इसके खर्च की कोउ बात ही नहीं . ही 
नहीं प्रधान मंत्री कार्यालय की और से इसके मेंटेनेंस  को लेकर भी जवाब दिया गया है 
मनीष सिसोदिया के RTI  के जॉब में प्रध मंत्री कार्यालय ने कहा  pmo  इंडिन अप्प के प्रधान मंत्री कार्यालय की और से ही मेंटेन  किया जाया है PMO का कहना हिअ की प्रधान मंत्री कार्यालय की वेबसाइट WWW . PMINDIA .GOV .IN  हिअ प्रधान मंत्री कार्यालय ने इस साइट को विक्सित किया है और इसे मेंटेनेंस मारने को जिमेदारी भी pmo  की ही है प्रधान मंत्री कार्यालय ने कहा है को PMO की सोशल मीडिया पर मौजूदगी का प्रबधन  भी pmo   से ही होता है इस तरह से सोशल मिडिया के प्ल्टेफार्म पर कोउ भी अतिरिक्र्त खर्च नहीं आता मनीष सिसोदिया के RTI  के जवाब में प्रधान मंत्री कार्यालय ने ही भी कहा है . की किसी भी सोशल मीडिया पर प्रधान मंत्री कार्यलय की और से कोउ भी अभियान नहीं चलाया गया 

No comments:

Post a Comment