Monday, 29 February 2016


आप नेता सोनी सूरी पर केमिकल अटैक के पीछे खालिद का हाथ



बस्तर। देशद्रोह के आरोपों से घिरे उमर खालिद नई मुश्किल में फंस सकते हैं। बस्तर पुलिस ने आदिवासी कार्यकर्ता सोनी सूरी पर हुए केमिकल अटैक में उमर खालिद का हाथ होने की आशंका जताई है।
सोनी सूरी

सोनी सूरी और उमर खालिद का कनेक्शन

बस्तर पुलिस के आईजी ने भी स्वीकार किया है कि सोनी सूरी पर हुए हमले में खालिद का हाथ हो सकता है। इसकी वजह का भी उन्होंने जिक्र किया है। बकौल आईजी एसपीआर कल्लूरी, ‘अपने बयान में सोनी ने खालिद का नाम लिया है।’ आईजी ने एक अंग्रेजी अखबार को यह बयान दिया है।
उमर खालिद पर जेएनयू में देशविरोधी और पाकिस्तानपरस्त नारे लगाने का आरोप है। इस मामले में उसे गिरफ्तार किया जा चुका है। इससे पहले जेएनयू के स्टूडेंट लीडर कन्हैया कुमार को भी इस मामले में गिरफ्तार किया गया है। कन्हैया की जमानत पर सोमवार को हाईकोर्ट में सुनवाई भी होनी है।

सोनी सूरी पर हुए हमले को लेकर एक प्रेस स्टेटमेंट भी जारी हुआ है। इसके मुताबिक केमिकल अटैक में माओवादियों का हाथ है। लेकिन माओवादी नेता विकल्प ने खुद सोनी सूरी पर हुए हमले की निंदा की है। इसके बाद से उमर खालिद पर ज्यादा उंगलियां उठने लगी हैं।
देशद्रोह के आरोप लगने के बाद उमर खालिद जेएनयू से भाग गया था। बाद में लौटा तो उसे पुलिस के आगे आत्मसमर्पण करना पड़ा। इस बीच 22 फरवरी को कैंपस में उसने सोनी सूरी पर हुए हमले का जिक्र किया। इसका एक वीडियो भी वायरल हो चुका है। यही वजह है कि छत्तीसगढ़ में बस्तर के आईजी भी इस मामले को उमर कनेक्शन से जोड़ रहे हैं।
बस्तर आईजी ने इस मामले में किसी भी तरह की पुष्ट जानकारी देने वाले के लिए 30 हजार रुपए इनाम तय किया है। वहीं, मामले का खुलासा करने पर एक लाख रुपए मिलेंगे। पुलिस के मुताबिक 20 फरवरी को केमिकल अटैक के बाद से सोनी सूरी अस्पताल में एडमिट हैं। अब वह खतरे से बाहर हैं।

No comments:

Post a Comment