Thursday, 13 October 2016

तीन तलाक के मुद्दे पर भारत के खिलाफ जंग छेड़ेगा

 
तीन तलाक के मुद्दे पर भारत के खिलाफ जंग
छेड़ेगा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड......





गुरुवार को ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के
महासचिव मौलाना मोहम्मद वली रहमानी ने ट्रिपल
तलाक के मुद्दे पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने केंद्र
की मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि वह "Uniform
Civil Code" लाकर देश को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं.
ट्रिपल तलाक पर सरकार का विरोध गलत है.
देश का मुस्लमान शरीयत के हिसाब से चलेगा किसी
देश के काले कानून के हिसाब से नहीं
इतना ही नहीं मौलाना रहमानी ने ये भी कहा कि
भारत जैसे देश के लिए यूनिफार्म सिविल कोड कतई
मुनासिब नहीं है. सरकार देश को तोड़ने की कोशिश कर
रही है.
मौलाना ने धमकी दी की अगर तीन तलाक ख़त्म
किया गया और "Uniform Civil Code" लाया गया तो
देश की शांति ख़त्म हो जायेगा और देश टूट जायेगा
समझ से परे है की "Uniform Civil Code" लाने से देश कैसे
टूटेगा, क्या मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड भारत के
खिलाफ जिहाद या जंग छेड़ देगा और 1947 की तरह
फिर से मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड देश के टुकड़े कर देने की
मांग करेगा, मुस्लिमो के लिए अलग देश की मांग करेगा
आखिर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के मौलाना धमकी
किसको दे रहे है, भारत की सरकार को या सीधे भारत
को
मौलाना रहमानी ने ये भी कहा कि पंडित जवाहर
लाल नेहरू बड़े दिल के आदमी थे. इसलिए उन्होंने अलग-
अलग ट्राइब्स के लिए संविधान में अलग-अलग प्रावधान
रखवाया है. भारत की मोदी सरकार देश तोड़ने की
कोशिश न करे और "Uniform Civil Code" लाने की जुर्रत
भी न करे
अन्यथा इसके परिणाम गंभीर होंगे
आपको बता दें की "Uniform Civil Code" का मतलब
होता है 1 देश का 1 कानून, सभी लोगों के लिए बराबर
का कानून और एक जैसा कानून
मुस्लिमो को कांग्रेस ने सेक्युलर भारत में भी शरीयत के
हिसाब से निजी कानून की सुविधा दे रखी है
कहने को तो भारत में सेक्युलर संविधान चलता है परंतु ये
कोरा झूठ है, क्योंकि मुस्लिमो के लिए यहाँ शरीयत के
हिसाब से निजी कानून चलते है
अतः कहा जा सकता है की भारत एक इस्लामिक
राष्ट्र है
"Uniform Civil Code" लाने का मतलब ही है इस तरह के
भेदभाव को ख़त्म कर एक जैसा कानून लाना
परंतु "Uniform Civil Code" का नाम सुनते ही कट्टरपंथी
मुस्लिम भारत को तोड़ देने की धमकी तक देने लगते है,
वैसे ये कट्टरपंथी पहले भी देश तोड़ चुके है
भारत से इन कट्टरपंथी तत्वों को कितना प्यार है इसका
प्रमाण है पाकिस्तान तथा बांग्लादेश

No comments:

Post a Comment