Monday, 22 May 2017

कश्मीर के बडगाम जिले में दो दिन पहले सर्विस राइफल के साथ फरार हुए पुलिसकर्मी के बारे में खबर है कि वह आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन का सदस्य बन गया है.

घाटी में राइफल के साथ फरार सिपाही हिज्बुल मुजाहिद्दीन में शामिल

कश्मीर के बडगाम जिले में दो दिन पहले सर्विस राइफल के साथ फरार हुए पुलिसकर्मी के बारे में खबर है कि वह आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन का सदस्य बन गया है.
जम्मू-कश्मीर पुलिस का सिपाही सईद नवीद मुश्ताक चांदपुरा इलाके से चार इंसास राइफल के साथ फरार हो गया था, जहां उसे भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) के गोदाम की रक्षा में तैनात किया गया था. स्थानीय मीडिया ने हिज्बुल मुजाहिद्दीन के प्रवक्ता बुरहान उद्दीन के हवाले से बताया, हम सईद नवीद (मुश्ताक) शाह का स्वागत करते हैं.
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि खुफिया सूचना के मुताबिक मुश्ताक आतंकवादी समूह में शामिल हो गया था. मुश्ताक 2012 में पुलिस बल में शामिल हुआ था, जो अपने और तीन अन्य सहकर्मियों के इंसास राइफल के साथ पिछले शनिवार को फरार हो गया था. पुलिसकर्मियों के सर्विस राइफल के साथ फरार होने और विभिन्न आतंकवादी संगठनों में शामिल होने के मामले बढ़ते जा रहे हैं.
करीब एक वर्ष पहले पुलिसकर्मी शकूर अहमद चार राइफल के साथ फरार हो गया था और कथित तौर परआतंकवादी संगठन में शामिल हो गया था. उसे करीब डेढ़ महीने बाद कुलगाम से गिरफ्तार किया गया था.
इससे पहले पुलवामा जिले का सिपाही नसीर अहमद पंडित 27 मार्च 2015 को दो एके राइफल के साथ पीडीपी के मंत्री अल्ताफ बुखारी के आवास से फरार हो गया था. बाद में वह शोपियां जिले में अप्रैल 2016 में मुठभेड़ में मारा गया था.

No comments:

Post a Comment