Tuesday, 17 January 2017

        दुनिया की सबसे बड़ी "स्वैछिक सेना" है इन्डियन आर्मी





जानते हैं भारतीय सेना से जुड़े इन तथ्यों को बारे में

हम भारतीय सेना पर गर्व करते हैं। देश की रक्षा के लिए आज भारतीय सेना आज 69वां सेना दिवस बना रही है। आइए जानते हैं भारतीय सेना से जुड़ी कुछ बातें जिन पर हम सब को फ्रख है।

नियंत्रित करती है दुनिया में सबसे ऊँचे युद्ध के मैदान

सियाचिन ग्लेशियर, जो समुद्र तल से 5000 मीटर की ऊंचाई पर है। हमारे जवान देश की सुरक्षा के लिए तैनात रहते हैं। वहाँ हमारे अधिकतर जवानों ने जान युद्ध में नही बल्कि न्यूनतम तापमान के कारण गंवाई है। विकट परिस्थितियों में सुरक्षा करना आसान नही है।

भारतीय सेना में लोग देश प्रेम की भावना से जाना पसंद करते हैं। आपको बता दे कि भारतीय संविधान में जबरदस्ती सेना में भर्ती करने का प्रावधान था लेकिन आज तक इसका प्रयोग नही किया गया है।

भारतीय सेना के वॉरफेयर स्कूल की दुनिया में उच्च दर्जा हासिल

दुनिया में भारतीय सेना का हाई ऑल्टीट्यूड वॉरफेयर स्कूल सबसे अच्छे ट्रेनिंग संस्थानों में गिना जाता है। अमेरिका के स्पेशल फ़ोर्स की ट्रेनिंग, अफगानिस्तान भेजे जाने से पहले यहाँ हुई थी। इसके साथ ही रूस और यूके के जवान भी यहाँ से ट्रेनिंग लेते रहे हैं। यह संस्थान ऊंचाई और पहाड़ी क्षेत्रों पर युद्ध करने के लिए जवानों को प्रशिक्षित करता है।

सेना ने परमाणु बम का परीक्षण किया और CIA को भनक भी न                                         लगी

1974 और 1998 में भारत ने परमाणु बम का परीक्षण किया था। तब अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेन्सी CIA को इसकी भनक तक नही लगी। यह CIA की सबसे बड़ी विफलताओं में एक है।

भारतीय सेना में नही है आरक्षण

जवानों की भर्ती परीक्षण, फिटनेस और योग्यता के आधार पर होती है।

भारत-पाकिस्तान के 1971 लोंगेवाला युद्ध का हर किसी ने लोहा                                        माना

इस युद्ध में करीब 120 जवानों ने एक जीप और M-40 राइफल के साथ 2000 पाकिस्तानी सैनिकों के खिलाफ जंग लड़ी थी। संख्या में कम होने के बावजूद भारतीय जवान युद्ध के मैदान में डटे रहे और आखिर में जीत हासिल की।

दुनिया में सबसे बड़े नागरिक बचाव कार्यों में से एक 2013 का "                           ऑपरेशन राहत"

उत्तराखंड में आई बाढ़ के बाद प्रभावित नागरिकों के लिए चलाए गए ‘ऑपरेशन राहत’ में भारतीय सेना के योगदान से हम परिचित हैं। यह दुनिया का अब तक का सबसे बड़ा नागरिक बचाव अभियान था। इस अभियान में भारतीय सेना ने हज़ारों लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया और 3,82,400 किलो की राहत सामग्री भी पहुंचाई थी।


No comments:

Post a Comment