Wednesday, 18 January 2017



365 दिन 24 घंटे दिखता है चमत्कार, खुद होता है यहां भोलेनाथ का जलाभिषेक

हमारे देश में कई शिवमंदिर हैं पर झारखंड के रामगढ़ जिला स्थित टूटी झरना मंदिर की बात ही निराली है। यहां स्थित शिवलिंग पर जलाभिषेक कोई और नहीं, बल्कि मां गंगा की प्रतिमा खुद करती है। वो भी 365 दिन 24 घंटे। मां गंगा की प्रतिमा से जल की धारा निकलती है, जो सीधे शिवलिंग पर गिरती रहती है। यह जल की धारा कहां से आती है, यह आज भी रहस्य बना हुआ है।

माना जाता है कि इस जलाभिषेक की जानकारी पुराणों में भी मिलती है। खास बात यह भी है कि इस मंदिर के पास दो हैंडपंप एसे भी हैं, जिन्हें बिना चलाए ही लगातार मोटी धार के साथ पानी गिरता रहता है। इस हैंडपंप में हैंडल भी नहीं लगाए गए हैं।

खुदाई में मिला था शिवलिंग

प्राचीन मंदिर टूटी झरना को लेकर एक पौराणिक कथा प्रचलित है। माना जाता है कि बहुत साल पहले यहां रेलवे लाइन बिछाने के दौरान इस मंदिर के बारे में लोगों को जानकारी मिली थी। यहां के बारे में यह भी कहा जाता है कि कभी पानी के लिए यहां खुदाई की जा रही थी। इसी दौरान जमीन के अंदर कुछ चीज दिखाई पड़ी। खुदाई के वक्त यहां अंग्रेज भी मौजूद थे। जब पूरी खुदाई की गई तो जमीन के अंदर शिवलिंग नजर आया। साथ ही, मां गंगा की एक प्रतिमा भी मिली। मंदिर में मौजूद शिवलिंग पर अपने-आप 24 घंटे जलाभिषेक होता रहता है।

यहां हैंडपंप चलाने की जरूरत नहीं पड़ती

यह आज भी रहस्य बना हुआ है कि आखिर इस पानी का स्त्रोत कहां है? यहां लगाए गए दो हैंडपंप भी रहस्यों से घिरे हुए हैं। यहां लोगों को पानी के लिए हैंडपंप चलाने की जरूरत नहीं पड़ती, बल्कि इनसे अपने-आप हमेशा पानी नीचे गिरता रहता है। खास बात तो यह है कि भीषण गर्मी में भी इन दोनों हैंडपंप से निकलने वाला पानी कम नहीं होता है। इस मंदिर में शिवलिंग के दर्शन के लिए दूर-दूर से लोग पहुंचते हैं और भगवान शिव की पूजा-अर्चना करते हैं।

सावन माह मे भगवान शिव की कृपा प्राप्त करने के लिये अभीषेक करें पवित्र एवं पावन गंगाजल से।

No comments:

Post a Comment