Tuesday, 13 June 2017

2019 में लगने वाले कुंभ मेले से पहले अंतर्देशीय जलमार्ग से जोड़ा जाएगा

महाकुंभ 2019: विशेष स्टीमर से संगम पहुंच सकेंगे श्रद्धालु, वाराणसी से शुरू होगी सेवा

बहुत जल्द आप इलाहाबाद से वाराणसी तक का सफर नदी के रास्ते तय कर सकेंगे. दोनों ही शहरों को 2019 में लगने वाले कुंभ मेले से पहले अंतर्देशीय जलमार्ग से जोड़ा जाएगा. इस संबंध में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के बीच चर्चा भी हो चुकी है. गडकरी ने भरोसा दिलाया है कि इलाहाबाद कुंभ मेला से पहले दोनों शहरों के बीच जलमार्ग का उपयोग शुरू हो जाएगा.

 राज्य सरकार के आकलन के मुताबिक 'कुंभ मेला' के दौरान एक दिन में 15 करोड़ श्रद्धालू शहर में जुटते हैं. इसके चलते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केन्द्र सरकार से इलाहाबाद से वाराणसी के बीच जलमार्ग विकसित करने का अनुरोध किया था.
योगी के अनुरोध पर तेजी दिखाएगा केंद्र
योगी के प्रस्ताव पर गडकरी ने कहा, "हालांकि इलाहाबाद से वाराणसी का रास्ता राष्ट्रीय जलमार्ग-1 परियोजना में नहीं आता है, जो वाराणसी से हल्दिया के लिए चलाई जा रही है. लेकिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के अनुरोध पर हम इसे विकसित करेंगे."
गडकरी ने कहा कि अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण इन दोनों शहरों के बीच चलाने के लिए विशेष स्टीमर खरीदेगी. हालांकि उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में निजी क्षेत्र को भी राज्य सरकार को शामिल करना चाहिए.
लिहाजा, इलाहाबाद कुंभ 2019 में एक बार फिर जलमार्ग से संगम पहुंचने वाले यात्रियों की संख्या में इजाफा होगा. केन्द्रीय मंत्री के मुताबिक अब उनकी योजना कुंभ मेला के दौरान वाराणसी से इलाहाबाद तक इस जलमार्ग पर ज्यादा से ज्यादा नौकाएं और तेज रफ्तार स्टीमर दौड़ाने की है.

No comments:

Post a Comment