Monday, 10 April 2017

राम भक्त हनुमानजी के जन्मोत्सव के पावन पर्व के शुभ अवसर पर हार्दिक बधाई व शुभकामना

मंगल को जन्मे मंगल ही करते,
मंगलमय हनुमान,,जय हनुमान जय हनुमान जय जय जय जय जय हनुमान


आज पूर्णिमा का व्रत हे क्योकि पूर्णिमा आज सुबह 10 :22 पर आएगी।कल श्री हनुमान जी का जन्म दिवस है जिसे हनुमान जन्मोत्सव कहा जाता है।श्री हनुमान जी अजर अमर है कलियुग में ये ही सकंट से दूर करते हे।जहाँ जहाँ श्री राम जी की कथा या सत्संग होता है वहाँ श्री हनुमान जी अवश्य आते है चाहे वे किसी भी रूप में रहें।आज की रात जागरण की रात हे जिनके शत्रु पीड़ा या फिर कोई राजकीय परेशानी चल रही है तो आज रात्रि में हनुमान अष्टक का पाठ करते हुए जायफल की आहुति देवें।आप सभी जानते है कि श्री हनुमान जी कार्य तो करते हे लेकिन उनको कहना पड़ता है हे प्रभु आप सब कार्य करने में सक्षम हो में भी आपका भक्त हूँ मेरा भी एक छोटा सा काम है (अपना कार्य या मनोकामना बोले) उसे आप ही कर सकते हे आप अवश्य करें।ऐसा कहने से श्री हनुमान जी अवशय ही आपके रुके हुए कार्य करते हे।कल अगर आप 108 लॉग की माला बनाकर श्री हनुमान जी पहनाए तो श्री हनुमान जी के आशीर्वाद से 9 ग्रह भी आपको पीड़ा नही दे पाते है।कल अगर कोई एक श्री फल(नारियल) और गुड़ श्री हनुमान जी को अर्पण करें तो यश कीर्ति तो मिलती है धन सम्बधित कार्य भी पूर्ण होते है।कल तुलसी के पत्तो पर राम राम लिखकर उसकी माला श्री हनुमान जी पहनावें तो साधक को सिद्धि और कष्ट से छुटकारा मिलता है। दक्षिण मुखी हनुमान जी का सिंदूर का तिलक विजय दिलवाता हे।जिनके मुख्य दरवाजा दक्षिण दिशा में हो वे श्री हनुमान का चित्र लगावे और सिंदूर का तिलक लगावें।श्री हनुमान जी को एक लड्डू में एक लॉग लगाकर भोग लगा ने से आया हुआ संकट दूर होता है।जो श्री हनुमान जी के साधक हे वे पंचमुखी हनुमान कवच का पाठ करें ।

No comments:

Post a Comment