Thursday, 6 April 2017

इन बेटियों एक बार फिर से साबित कर दिया है कि हम किसी से कम नहीं हैं।

नौ बेटियों ने एक साथ दी पिता की अर्थी को कंधा, लोग बोले- वाह, बेटी
बांका। बिहार की नौ बेटियों ने पिता की अर्थी को कंधा देकर एक बार फिर से मिशाल कायम किया है। जिसकी चर्चा पूरे बिहार में हो रही है। इन बेटियों एक बार फिर से साबित कर दिया है कि हम किसी से कम नहीं हैं।

दरअसल, बिहार के बांका जिले में नौ बेटियों ने एक साथ अपने पिता को अंतिम विदाई दी। सबने एक साथ मिल अर्थी को कंधा दिया। इस नजारे को देखने के लिए सड़क पर भी लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा था। गौरतलब है कि बांका जिले के कटोरिया थाना निवासी चुन्नीलाल शाह की बीमारी की वजह से मंगलवार को मौत हो गई। उसके बाद शव बांका लाया गया था।

व्यवसायी चुन्नीलाल का कोई पुत्र नहीं है। सिर्फ नौ बेटियां ही थीं। इसलिए सबने पिता के अर्थी को कंधा देकर पुत्र धर्म को निभाया है। वहीं, जिले में भी इस मिशाल की खूब चर्चा हो रही है। चुन्नीलाल शाह का निधन इलाज के दौरान रांची में हो गया था। 
-- 

No comments:

Post a Comment