Friday, 24 March 2017

हराम की कमाई का मोटा मुनाफा

अवैध बूचड़खानों में मोटा मुनाफा 
45  से 50  हजार रुपए के कमाई हो रही है  भैस की कटाई मंटोला  में हर दिन कटी जा रही 80  से 100  भैस महज 30  मिनिट का समय और 10  से 15   हज़ार  रुपये के कमाई  सुबह सुबह केवल 3  घंटे में अवैध बूचड़खानों के संचालक लाख रुपये तक की कमाई कर रही है ! केके मंटोला इलाके में 80  से 100 भैस हर दिन 
सुबह सुबह कटी जा रही है गौश्त से लिकर खाल तक की बिक्री में हर भैस से 45  से ५० हज़ार रुपए मेल रहे है 
मंटोला छेत्र अवैध बूचड़खानों में हर सुबह भैसो को कटा जा रहा है . एक बूचड़खाना संचालक ने बताया की पैठ से वह 25  से 30  हजार रूपए  की भैस ख़रीदकर लाते है  . जिसका मिट,खाल ,सिंग , खून , अदि बेचकर के बाद में करीब 45 -50  हज़ार रुपये की कमाई हो जाती है . 
ओसरन 200  किलो मिट , ४०० रुपये प्रति जोड़ी की दर से पैर 600  रुपये का सर  300  रुपये किलो से कालेज और 1200  से 1500  रुपये की खाल बिकती है महज आधे घंटे में ही भैस का अस्थिवव ख़त्म कर दिया जाता है हर भैस पर 15   हजार रुपये तक की कमाई के चलते  अवैध बूचड़खाने बढ़ रहे है .. ऐसा कोई बूचड़खाना नहीं जो हर दिन 6  से 8 भैस की कटाई न करता हो नगर निगम और पुलिस  छापा डालने के लिए न आए इसका भी इंतज़ाम किया जाता है 

No comments:

Post a Comment