Thursday, 23 March 2017

राम मंदिर के लिए मुसलमानो से सलाह के जरुरत नहीं

मांगने से कुछ नहीं मिलता , राम मंदिर के लिए मुसलमानो से सलाह के  जरुरत नहीं 
राजा सिंह राजा विधायक हैदराबाद 

भारत का मूल समाज है सनातन हिन्दू समाज 
जैन, बहुध और सिख ये भारतीय धर्म है , जो बाद में बने  पर इस्लाम और ईसाइयत ये दोनी ही महजब बाहरी है 
और भारत में निमंत्रिक नहीं किये गए , बल्कि जबरन घुसे 
मुस्लिमो ने भारत पर कई हमले किये बाबर नाक का भी एक मुसलमान था जिसने भारत पर हमला किया था 
और अयोध्य में राम मनिदर को तोड़ दिया, और उसके बाद वह एक मस्जिद बना दी 
हिन्दू एकता ने भारत पर कलंक की निशाने को 1992 में ध्वस्त कर  दिया और रब से मामला अन्य अन्य कोर्ट में है जिसमे जिसमे हाई कोर्ट ने सौबत के आधार पर सिद्ध कर दिया की. मंदिर के उर मस्जिद बनाईं गयी है जिसके बाद आज फिर से राज मंदिर  की बहस हो रही है . और इस पर बपज के तेलंगाना के हैदराबाद से राजा सिंह राजा ने कहा ही की अयोध्य में श्री राम मंदिर था जिसे तोड़ने के लिए बाबर ने हिन्दुओ से सलहा नहीं ली .फिर हिन्दू अयोध्या में मंदिर बनाने के लिए मुसलमानो से सलाह क्यों ले .
मंदिर बनाने के लिए मूसलमनो से रे क्यों करे ,,,,

No comments:

Post a Comment